Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

जय बाबा रामदेव

May 6th, 2011 · 6 टिप्पणीयां · उलझन

अचानक कुछ ही सालों में बाबा रामदेव ने जाने कैसा मन्तर फूंका की पुरे भारतवर्ष के लोग उनके दीवाने हो गये ! ए॓सा क्या हुआ कि रमता जोगी हजार करोडो रुपयों में खेलने लगा !  योग और प्राणायाम करने कराने के लिये तो ऋषि मुनि सदियों से कहते आ रहे हैं पर इस विधा की मार्केटिंग रामदेव जी महाराज नें ए॓सी कि है कि बस ! शहर के शहर पोस्टरों से रंग दिये जाते हैं जहां उनके जाने का प्रोग्राम तय होता है ! उनके ही एक कम्पिटिटव साधु महाराज तो साफ कहते हैं कि रामदेव जी एडवर्टिजमेंट पर धन का एक हुत बडा हिस्सा सालाना खर्च करते हैं ! अगर सही है तो व्यापारी ही हुए॓ ना वे कहां के बाबा रहे ! टीं.वी. एंकर जब मुस्कुरा कर पुछती है तो वे कहते हैं कि सालाना हमारा टर्नओवर करोडों रुपये का होता है और वे  कहते हैं कि बाजार भाव से हमारे प्राडक्ट सस्ते व अच्छे क्वालिटी के हैं !

बाबा की योग और प्राणायाम विधियां टी. वी. पर बडी प्रसिद्ध हैं ! चौतरफा उनकी जय जयकार हो रही है ! अब तो हर जिले स्तर पर पतंजलि की यानी बाबा रामदेव की दुकाने खुल गई हैं ! लोग रामदेव जी की टीम के मेम्बर बन कर सेवा और मेवा दोंनों कूट रहे हैं ! सारा माल टुथपेस्ट हो या शेम्पू या फिर कोई दवाई या गोलियां सब कुछ एम. आर. पी. पर धडल्ले से बिकता है ! किसी भी वस्तु कि एम. आर. पी. रेट से कम देने का आग्रह करने का हर उपभोक्ता रखता है और ये बात “जागो ग्राहक जागो” वाले भी कहते है ! पर रामदेव जी कि दुकान वाले दुकानदार महाशय से एम. आर. पी. से कुछ कम कह कर देख लिजिये, भडक उठेंगें !

टी.वी. पत्र पत्रिकायें सब तरफ उनका ही चर्चा है ! चमत्कार है ये तो ! हम सबकी अपनी अपनी शैली है अभिव्यक्ती कि और बाबाजी की तो बहुत ही ग्रेट है ! चीख चीख कर और बारम्बार कहने से उन बातों का सुनने वाले के मन पर असर तो पडता ही है ! और हर चीज को करने के अपने सही ढ़ंग है सो योगा के भी अपने कायदे है, पर आजकल जिसे देखो वही ये ही धुनी रमा रहा है ! इसकी अति होने से घर पर बच्चे भी हर कैसे ही फां फूं कर रहे हैं जो कि गलत तो है हि और स्वास्थ्य पर भी नकारात्मक प्रभाव डालने वाला है ! अभी कुछ रोज पहले समाचार में सुना कि लौकी का ज्युस पीने से एक आदमी मरा क्योंकि जो लौंकी का वे ज्युस पी रहे थे वह कीटनाशक व इंजेक्शन आदि के कारण जहरीली हो चुकी थी ! तो किसी चीज वस्तु या क्रिया का अंधानुकरण करना गलत है !

पर फिर भी बाबा रामदेव प्रशंसा के पात्र है क्यो कि थोडा या बहुत पर कुछ तो योगदान है ही उनका स्वस्थ भारत के निर्माण में ! उनके कहने से लोग सुबह जल्दी उठ कर कुछ तो व्यायाम कर रहे हैं जो कि फायदेमंद है !

टैग्सः ······

6 टिप्पणीयां ↓

  • VINAY PANDEY

    LAGE RAHO

  • nirmal kumar sharma

    yog karne se bahut fayde hote hain baba ram dev ke live telecost ke samne baith kar yog karne se 1000000 guna laabh hota hai aisa mera anubhav hai aap bhi kar ke denkhe yog vigyan karne ka vigyan hai maine bhi kiya aap bhi karen baba ram dev ko sat sat naman yadi wo kala dhan manga kar poore hindustan mein kali sadken to banwa saken

  • nirmal kumar sharma

    poore bharat men 720000000 log pratidin bhookhe pet sote hai kya bhrat ke imandar pradhan mantri ko unki chinta nahin hai raat men soye huye bachhon,mahilaon aur bugurg logon par lathi chalane ki karywahi ko nyaysangat batane wale prdhan mantri ko kab sharm ayegi hame to ye lagta hai ki ye imandar pradhan mantri bharat ke chune huye pradhan mantri na hokar angejon dwara chune hue pradhan mantri hon jo bhartiy neerih logon par itna atyachar is tathakathit loktanta men kiya gaya is des ke log kab jagenge

  • nirmal kumar sharma

    bharat ke mahaan krantikari —– Amar Shaheed Bhagat singh ne aaj se assi saal pahe hi kah diya tha ki ye aajadi ki ladai wastav men dishaheen ho gayee hai jis tarah se kangress andolal chala rahi hai usase bharat ke swatantra hone par kewal das % logon ko hi fayada hoga aaj yah spast ho gaya hai ki assi sal pahle us noujwan kee kahi huyi bat kitni saty thi wastav men ham log swatantra nahi hain antar yahi hai ki angrejon ki jagah kale angrejo ke aoulad aa gaye hai jo bhartiy janta par itna atyachar ho raha hai

  • Ramesh Chandra

    ram dev par tippadi karne se pahle kuchh to socha hota. vaise to bhikhariyon ke paas bhi lakho rupye milne ki suchna milti hai. baba ramdev ne to in paiso ka upyog aushdhalay, vidhyalay, aur dharmshala kholne mein kiya hai. kaledhan ka mudda jor shor se inhone hi uchhala hai. ab kaaledhan chhupane vaale log hi is mahan yogi ko janch ke naam par paresan kar rahe hain. sharam, sharam, sharam.

  • Prem Prakash

    Guru topics to aapne bahut achchhe choose kiye hein, Itna time kaise nikal lete ho yaar ? Congrets & Lage raho.

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद