Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

पागल की कहानी

April 2nd, 2010 · 14 टिप्पणीयां · लघु कहानियां

आज मेनें एक पागल को देखा ! जो फटे पुराने से गंदे चीथडे से होते जा रहे कपडों में लिपटा था ! लिबास से ही उसको पहचाना जा सकता था कि या तो वह पागल है या भिखारी ! बहुत गंदा सा शायद काफी दिनों से नहाया नहीं था । दाढ़ी बढ़ी हुई और बाल अजीब से बिखरे हुए से थे ! बेचारा अपने रस्ते पे जा रहा था ।

पर दुनिया बडी जालिम है, चैन से किसी को को जीने नहीं देती । अचानक एक बच्चे को वह पागल नजर आ गया और उसने उसको ना जाने कौनसे उटपटांग इशारे या संकेत दिये कि भिखारी चिढ़ने लगा ! अब बच्चे को पागल भिखारी की कमजोर नस पकड में आ गई, ए॓से ही छोडता थोडी । उसने पागल को और भी ज्यादा से ज्यादा परेशान किया ! और थोडी ही देर में उसी बच्चे के हम उम्र आवारा से दोस्त भी आ गए ! पागल व्यक्ती की तो शामत आ गई थी जैसे ।

देखते ही देखते सभ्य लोगो से भरे बाजार में आवारा टाईप के बच्चो की भीड आ गई, बच्चो मे से कोई पागल के कपडे खींचने लगा तो कोई उसे चिढ़ाने लगा । पागल कमजोर भी था और पागल तो था ही । उसने उलजुलुल बकवास करनी शुरु कर दी, हाथ पांव चलाए पर अब तो बच्चों को इस काम में और ज्यादा रस आने लगा । जान पे बन आने पर तो कोई कमजोर सा पागल भी सर्वशक्तीमान जेसा हो उठता है ।

अब बच्चे आगे आगे और पागल हाथ में पथ्थर लिए उनके पीछे पीछे ! दुनिया बडी अजीब है, पुरे घटनाक्रम में कोई बच्चों को शैतानी करने से रोक नहीं पाया और अब जब पागल के हाथ में पथ्थर आ जाता है और अगर वह बच्चों कों डराने के लिए थोडा शक्ती प्रदर्शन करता है तो लोग पागल को मारने पर उतारु हो जाते हैं । बडी अजीब सी स्थिती है आजकल ।

मुझे खुद अपने आप पर भी बडा तरस आया की क्या में उस पागल को बच्चों से बचाने में सक्षम नहीं था । अगर था तो क्यो नही बच्चो पर चिल्लाया ! हर आदमी फोकट के झंझट से बचना चाहता है आजकल, शायद में भी उन लोगों जैसा ही हो गया हूं !

टैग्सः ·······

14 टिप्पणीयां ↓

  • bhagwan umate

    jo bthi aishe thi good

  • ashvini mulye

    sahi hai

  • krishna Kumar Upadhyay

    kahani achhi lagi. thankyou

  • SATYAM

    धन्यवाद

  • सत्यम जायसवाल

    बहुत अच्छी समाजिक कहानी है आगे लिखते रहीए

  • hoda

    hello
    अच्छी वेबसाइट.
    महान था.
    धन्यवाद!

  • neeraj kumar sabita

    good morel story……..keep writing.

  • आनन्द

    कहानी अच्छी है

  • pawan upadhyay

    hamari shubhkamana aap ke sath hai aap bahut bathiya likhte hai

  • Nitesh Verma

    Bhut achchi hai but ek baat fir yaha khatakti hai ki kyo hum log is tarah ki ghatnaon par react nahi karte .
    thankyou

  • Uggs Outlet Melbourne

    It is not my first time to pay a visit this web page, i am browsing this web page dailly and take pleasant data from here all the time.

  • mj single

    हम पागल नही है भइया हमारा दिमाग खराब है….

  • Atul Panchal

    पागल सभी दुनिया है जो सिर्फ अपने बारे में सोचती है।

  • Kaustubh

    पागल व्यक्ति के साथ हमेशा अनुभूत से ऐसा ना चाहिए क्योंकि वह अपनी सामान्य बुद्धि और विवेक का इस्तेमाल करने में अक्षम है।

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद