Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

पुष्प की अभिलाषा – माखन लाल चतुर्वेदी

August 7th, 2011 · अब तक कोई टिप्पणी नहीं की गई · इतिहास के पन्नो से

पुष्प की अभिलाषा

पुष्प की अभिलाषा

बचपन में स्कूल के दौरान पढ़ी माखन लाल चतुर्वेदी की एक कविता पुष्प की अभिलाषा आज मुझे याद आ रही है | आजादी हमें भले ही बहुत आसानी से मिल गई थी, जब हमनें जन्म लिया और पाया कि हम गुलाम नहीं है, और आज हम खुली हवा में सांस ले रहे हैं | पन्द्रह अगस्त आने वाला है | हमारी आजादी के पीछे बहुत से लोगों की कुरबानियां हैं और ये वीर शहीद लोगों को याद करने का मौका हैं |

पुष्प की अभिलाषाः माखन लाल चतुर्वेदी

चाह नहीं में सुरबाला के
गहनों में गूंथा जाऊं

चाह नहीं प्रेमी माला में
बिध प्यारी को ललचाऊं

चाह नहीं सम्राटों के शव
पर हे हरि डाला जाऊं

चाह नहीं देवों के सिर पर
चढ़ूं भाग्य पर इठलाऊं

मुझे तोड लेना बनमाली
उस पथ पर देना तुम फेंक

मातृभूमि पर शीश चढ़ाने
जिस पथ जायें वीर अनेक |

टैग्सः ·····

अब तक कोई भी टिप्पणी नहीं ↓

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद