Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

राजसमंद का नौ चोकी सन 1910 में कैसा दिखता था !

November 13th, 2010 · 5 टिप्पणीयां · प्रमुख दर्शनीय स्थल, राजसमन्द जिला

राजसमंद का नौ चोकी सन 1910 मे कैसा रहा होगा ! अब तो नौ चोकी पाल पर गार्डन वगैरह बन चुका है और नगरपालिका वाले काफी अच्छा डेवलप भी कर रहे हैं ! पर मेरे एक अभिन्न मित्र नें मुझे यह फोटो का लिन्क भेजा है और इसलिये यह फोटो यहां भी प्रेषित है ! देखिये यह ब्लेक एंड व्हाईट फोटो कितना अलग सा था, ना यह जगह पहले !

तो देखिये हमारे देश कि आजादी से भी पहले का यह नायाब फोटो जो कि राजसमन्द की ए॓तिहासिक धरोहर पाल को दर्शाता है !

राजसमंद नौ चोकी पाल का फोटो 1910 मेः

nau choki year 1910

Nau Choki 1910

लिन्क साभारः
http://sphotos.ak.fbcdn.net/hphotos-ak-ash2/hs568.ash2/149020_1665984530335_1258926954_31789685_1339968_n.jpg

टैग्सः ···

5 टिप्पणीयां ↓

  • kamlesh kachhara

    very beatuiful we are 15 friends every day morning go this place & swamining & full enjoy in winter

  • RAMESH GURJAR

    mene rajasamand nou choki ka photo dekha jo mere ko bahut accha lga thanks

  • satish vaishnav

    i like that

  • Ajay Chaudhary

    I saw this picture after after long time. I have once seen this picture long before at some government office. (Officer was my dad’s friend).

    But it was really nice and joy full to see my motherland’s picture after long time as I am out of India from last 10 years….
    Pl someone if you have got latest pictures of rajasamand including pic’s of lake temple, bazaar, Irrigation garden etc. Please mail to me on ajjupink@yahoo.com

  • Pankaj goyal

    नौ चोकी एक बहुत ही खूबसूरत जगह है। मैं दो साल पहले अपनी राजसमंद यात्रा के दौरान वह गया था। वहा पर हमे एक गाइड भी मिले थे जो कि पहले जे के टायर्स में काम करते थे और अब शौकिया तौर पे गाइड का काम करते थे। उन्होंने हमे नौ चोकी के निर्माण कि पूरी कहानी सुनाई थी। और गेवर माता के बारे में भी बताया था।

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद