Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

हमारे जिले राजसमन्द में मातम भरा दिन

September 9th, 2007 · 2 टिप्पणीयां · उलझन, नई खबरें, राजसमन्द जिला

जी हां ! हमारे जिले के ही गांवो के लोगों से भरी हुई रामदेवरा दर्शन के लिये जा रही एक ट्रक देसूरी के घाटे में दु्र्घटनाग्रस्त हो गई थी । जिसमें कई 60 से अधिक घायल हो गए एवं 86 के लगभग मारे गए । ट्रक में 211 बच्चे, बुढ़े, औरतें बेठे थे । इसमें लकडी के पट्टे लगा कर जगह बनाई गई थी ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग बैठ सकें । वेसे यह देसूरी का घाटा पाली की तरफ आता है । यह बडा ही भयावह, विकट मोड, चढ़ाव उतारों व घने जंगल से युक्त कठीन रास्ता है । वेसे इसके घाटे के जेसा ही हमारा उदयपुर के मार्ग में आने वाला चीरवा का घाटा भी है ।

अनुभवी बडे लोग बतातें है, कि आज से 15-20 साल पहले ना तो गाडीयों में पावर स्टीयरिंग होते थे ना ही सडके चौडी हुआ करती थी, ना रोड लाईट्स, ट्रक चलाने वाले के तो हाथ गियर बदल बदल कर और स्टियरिंग को मुडा मुडा कर ही दुखने लग जाते थे । साथ ही यह भी बता दुं की देसूरी की नाल या घाटे के शुरुआत में एक मंदिर भी है, काफी सारे लोगों का मानना है कि अगर रुक कर दर्शन किये बिना चले गए तो दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं । बहुत सी गाडीयों से लोग रुक रुक कर पेसे चढ़ाते हैं, व दर्शन करते हैं यहां ।

इस से एक बात तो साफ हो जाती है कि हमारे राजस्थान के लोग काफी धर्मांध है, किसी के थोडे से आग्रह करने मात्र से ही खतरनाक यात्राएं करने के जोखिम तक उठाने से नहीं चुकते । ये तो कुछ भी नही हमारे हाइवे के रास्ते पर हर साल सडक के किनारे पैदल जाने वाले रामदेवरा के यात्री वाहनों की टक्कर के शिकार होते हैं व मारे जाते हैं। भगवान मृत लोगो की आत्मा को शांति दे ।

टैग्सः ····

2 टिप्पणीयां ↓

  • मुकेश कुमार

    हा बहुत ही दुखदायक घटना है .हा मे भी भीलवाडा जिला का रहने वाला हु आप मेरी साईट kaalchakraa (at)blogspot एक बार जरुर पधारे……..

  • बसन्त आर्य

    हमारी भी यही कामना है. उनकी आत्मा शान्त चित्त हो

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद