Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 4

Entries Tagged as 'प्रमुख दर्शनीय स्थल'

ए॓तिहासिक कमल बुर्ज की छतरी की व्यथा

January 13th, 2011 · 1 Comment · प्रमुख दर्शनीय स्थल

राजसमंद झील की एरिगेशन पाल पर अंत जाने पर ए॓तिहासिक कमल बुर्ज की छतरी आती है ! पाल के अंत में बनी होने के कारण ही शायद ये सब अन्य छतरियों के मुकाबले में काफी बडी और भव्य है ! वैसे एरिगेशन पाल पर गार्डन भी बना हुआ है और बुजुर्ग लोगों की मंडली के […]

[Read more →]

Tags: ·········

राजसमंद का नौ चोकी सन 1910 में कैसा दिखता था !

November 13th, 2010 · 5 Comments · प्रमुख दर्शनीय स्थल, राजसमन्द जिला

राजसमंद का नौ चोकी सन 1910 मे कैसा रहा होगा ! अब तो नौ चोकी पाल पर गार्डन वगैरह बन चुका है और नगरपालिका वाले काफी अच्छा डेवलप भी कर रहे हैं ! पर मेरे एक अभिन्न मित्र नें मुझे यह फोटो का लिन्क भेजा है और इसलिये यह फोटो यहां भी प्रेषित है ! […]

[Read more →]

Tags: ···

सरदारगढ़ के किले के कुछ फोटो

October 6th, 2010 · 3 Comments · कहां ठहरें, प्रमुख दर्शनीय स्थल

सरदारगढ़ का किला अब हेरिटेज होटल में तब्दील हो चुका है ! कांकरोली राजसमंद से आमेट की तरफ मार्ग मे 16-18 किलोमीटर दूर जाने पर आता है लावा सरदारगढ़ । यह एक बहुत विशाल किला है, और थोडी उंचाई पर बना हुआ है इसलिये काफी दूर से ही दिखाई देता है । नाम से ही […]

[Read more →]

Tags: ··

राजसमंद जिले के प्राचीन मंदिर और भक्ति से परिपुर्ण स्थल

August 28th, 2010 · 12 Comments · प्रमुख दर्शनीय स्थल

काफी समय पहले राजसमन्द उदयपुर जिले के अंदर माना जाता था ! तब सारे प्रशासनिक कार्यों आदि का निर्णय भी वहीं से लिया जाता था ! फिर आया 10 April 1991 का पावन दिन जब राजसमन्द को जिला बनाया गया ताकि इस जगह का ज्यादा से ज्यादा विकास हो पाये ! अब यह तो आप […]

[Read more →]

Tags: ·······················

राटासेन माताजी का मंदिर

February 10th, 2009 · 1 Comment · प्रमुख दर्शनीय स्थल, राजसमन्द जिला

राजसमन्द से सौ किलोमीटर की परिधी में हमने अब तक कोई भी घुमने लायक स्थान नहीं छोडा । मोटरसाईकिल उठाई, एक दो दोस्तों को फोन घुमाया वे भी तैयार और हम भी । थोडा बहुत नाश्ता पानी साथ लिया और ये निकल चले हम घुमने । छट्टी के दिन अक्सर एसा ही रूटीन रहता था […]

[Read more →]

Tags: ····