Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 4

Entries Tagged as 'शख्सियत'

शिक्षक त्रिलोकी मोहन पुरोहित

December 18th, 2011 · No Comments · शख्सियत

राजसमंद की ख्यतिप्राप्त शख्सियतों में से आज हम मिलवाते हैं आपको कांकरोली के एक अति विशिष्ट शिक्षक त्रिलोकी मोहन जी पुरोहित से | कांकरोली के त्रिलोकी मोहन जी पुरोहित पेशे से एक टीचर यानी शिक्षक हैं, और शिक्षा प्रदान करना ही इनका पेशा हैं | ये बहुत ही प्रखर बुद्धि वाले व्यक्ति हैं | मंच […]

[Read more →]

Tags: ····

सलीम भाई अंडे वाला

August 27th, 2011 · 3 Comments · शख्सियत

सलीम अंडे वाला ये आदमी का टाईप एकदम अलग ही है, एकदम जुदा | कांकरोली शहर के जलचक्की तिराहे पर पेट्रोलपंप के पास लगाते है ये बायल अंडे, आमलेट, भुर्जी आदि की लारी जो कि इनका मुख्य व्यवसाय है | इनकी ये फर्म बहुत ही पुरानी है और शहर में कोई सिंगल आदमी ए॓सा नहीं […]

[Read more →]

Tags: ······

राजसमन्द के स्वतन्त्रता सैनानीयों की सूची

August 15th, 2011 · 4 Comments · राजसमन्द जिला, शख्सियत, स्वतन्त्रता सेनानी

1857 की क्रांति के दौरान व उसके बाद सन 1947 तक स्वतन्त्रता मिलने तक भारत में स्वाधीनता हेतु कई लडाईयां हुयी | उस दौरान हमारे जिले राजसमन्द के लोगों मे भी स्वाधीनता प्राप्त करने की ललक पैदा हुई और यहां भी स्वतन्त्रता सैनानीयों ने अंग्रेज सरकार के खिलाफ एलान ए जंग किया था | विरोध […]

[Read more →]

Tags: ···············

राजसमन्द की ख्यातनाम शख्सियत “कमर मेवाडी जी”

May 31st, 2011 · 5 Comments · राजसमन्द जिला, शख्सियत

डा. दुर्गाप्रसाद जी जो “जोगलिखी” के नाम से ब्लाग चलाते हैं, उनकी टिप्पणी नें वाकई में मुझे सोचने के लिए मजबूर कर दिया की, आखिर एसा कैसे हो गया की में अब तक में इस राजसमन्द की साईट पर राजसमन्द की ही एक ख्यातनाम शख्सियत “कमर मेवाडी जी” का उल्लेख करना कैसे भूल गया । […]

[Read more →]

Tags: ·········

झील भरवा री प्रार्थना

May 18th, 2010 · 2 Comments · राजसमन्द जिला, शख्सियत, हास्य

राजसमन्द झील जिसका की जलस्तर दिन पर दिन कम होता जा रहा है ! इस व्यथा को शब्दो में पिरोया है यहां के ही एक शख्स नें  ! राजसमंद के एक बहुत ही ख्यात युवा कवि सुनिल जी “सुनिल” नें अपनी बहुत ही उम्दा रचना भेजी है ! जो इस प्रकार है ! झील भरवा री […]

[Read more →]

Tags: ······