Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 4

Entries Tagged as 'नई खबरें'

हमारे कांकरोली व नाथद्वारा की होली

March 4th, 2007 · No Comments · उत्सव एवं त्योहार, नई खबरें, राजसमन्द जिला, हास्य

सबसे पहले तो सभी विजीटर भाईयों बहिनों को होली की शुभकामनाएँ व बधाईयां ! लो जी फिर से आ गई आपकी, हमारी, सबकी प्यारी होली। होली का त्योहार तरह तरह के रंगो से भरा हुआ एसा एक त्योहार है कि हर कोई ईसके रंग मे रंग जाता है। हमारे यहां काकंरोली नाथद्वारा मे होली कि […]

[Read more →]

Tags: ······

सोनी के प्ले स्टैशन वन पर हमारा गेम खेलने का चस्का

March 1st, 2007 · 3 Comments · तकनिकी, नई खबरें, हास्य

हमने अभी अभी Sony Play Station 1 पर अपने प्रिय मित्र के साथ गेम्स खेलने का लुत्फ लिया है। काफी दिनों से अखबारों, टी.वी. इन्टरनेट आदि पर हम सोनी के प्लेस्टेशन के बारे में पढ़ व सुन रहे थे। वेसे विडीयो गेम्स खेलने का कीडा हमें बचपन से ही था, पहले  हम भी विडीयो गेम […]

[Read more →]

Tags: ·······

हमारा एप्पल आई पोड शफल खराब हो गया

February 28th, 2007 · No Comments · तकनिकी, नई खबरें

बडा दुख हुआ हमें जब हमारा अपना एप्पल का आई पोड शफल चलते चलते अचानक खराब हो गया । हमने कुछ समय पहले ही नया 256 MB स्पेस वाला एप्पल का आई पोड शफल खरीदा था, पर अफसोस यह सिर्फ 8-9 महीने ही चला व खराब हो गया। अन्य मर्दों की तरह हमें भी टेक्नीकल […]

[Read more →]

Tags: ·······

जाती हुई सर्दी में बारिश, खराब या अच्छी

February 25th, 2007 · No Comments · नई खबरें, राजसमन्द जिला

अरे रे ये क्या ! फिर से बारिश चालू । हमारे यहां कांकरोली में आज पता नहीं कहां से ये बादल आ गए सुबह से ही मोसम थोडा बारिश के जैसा बन रहा हि था । पर लोगों को पता था कि बारिशा आएगी नहीं सिर्फ ये बादल एसे ही दर्शन देने आए हैं व […]

[Read more →]

Tags: ······

शादी के दौरान के चन्द वाकये

February 21st, 2007 · 5 Comments · उत्सव एवं त्योहार, नई खबरें, राजसमन्द जिला, हास्य

शादियों का सीजन चल रहा हे व हमारे शहर में चारों तरफ इसी तरह की गहमा गहमी है। बारात, बेंड बाजे, रोज रोज किसी ना किसी मिलने वाले के यहां प्रतिभोज में जा कर के खाना, व फिर लिफाफे टिकाना, एक अदद फोटो खिंचवाना व वापस घर आकर के सो जाना यही रुटिन हो गया […]

[Read more →]

Tags: ······