Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

एकलव्य फिल्म समीक्षा, फिल्म रीव्यु, स्टार कास्ट एकलव्य द रोयल गार्ड

February 17th, 2007 · अब तक कोई टिप्पणी नहीं की गई · कहां ठहरें, नई खबरें, प्रमुख दर्शनीय स्थल, फिल्म रिव्यु, राजसमन्द जिला

हम तो भईया जब से हमारे राजसमन्द के देवीगढ़ मे एकलव्य की शुटिंग युनिट आयी थी।  तब से ही इस फिल्म को थियेटर में ही देखने की इच्छा संजोए बैठे थे वो आज पुरी हुई है। बाकी तो आस पास लगभग सारी होटलों व छोटे मोटे ढ़ाबो पर हमने खाना खाने व घुमने का लुत्फ ले लिया है, पर देवीगढ़ होटल हमारे बजट में नहीं आता है, सो अब तक गए नहीं वहां। वेसे हमारे राजसमन्द में यह बहुत महंगी व शाही सुख सुविधाओं से युक्त होटल मानी जाती है, सभी बडे अभिनेता, नेता व बडे व्यावसायिक घराने के लोग यदि कारणवश राजसमन्द आते है तो यहीं ठहरते हैं। तो भई अब तक तो हम जा नही पाए सोचा, ये फिल्म देख लेते है कुछ आईडिया हो जाएगा। युं तो राजस्थान के अन्य जगहों पर भी शुटिंग कि गई थी पर फिल्म मे अधिकांश शुटिंग देवीगढ़ की है।

अरे हमें तो हर खबर मालुम है क्योंकि जब शुटिंग युनिट यहां आयी थी तो रोजाना अखबारों में नई खबरे पढ़ने को मिलती थी कि आज सेफ आए है, सेफ ने मोटरसाईकिल चालक से लिफ्ट मांगी,  आज अमिताभ के डुप्लिकेट पहुंचे है, हेलिकाप्टर मंगवाया है, आज फलां, आज फलां ईत्यादी । 

शाही परिवार के लोग, आपस की लडाई, गरीब लडकी से शहजादे का प्यार महोब्बत, पुलिस व एक स्वामिभक्त गार्ड एकलव्य (अमिताभ)यही सब कुछ नए अंदाज में दिखाया गया है । अमिताभ, सेफ, संजु बाबा, जेकी व विध्या बालन के गेट अप काफी आकर्षक लगे है। जेसे जुबैदा में करिश्मा कपुर व रेखा ने राजपुती परिधान पहने थे ना लगभग वेसे ही परिधान विध्या बालन नें फिल्म में पहने है । स्टंट सीन में वो दृशय जहां रेल की पटरी के पास बहुत सारे ऊंट होते है बडा अच्छा बन पडा है। देवीगढ़ के दृशय काफी सुन्दर लगे है, खासकर के वो छतरीयां, स्वीमिंग पुल, बडा सा दरवाजा, महल, महल के अन्दर का भव्य आकर्षक ईन्टीरियर, पहाडों के दृश्य आदि ।

फिल्म में राजसी ठाठ बाठ व शाही परिवार के अन्दर की कुछ पारिवारिक कहानी कोदिखाया गया है । पुरानी विन्टेज कार, जीपें, पुराने महल, रेतिला रेगिस्तान, ऊंट, परिधान भी वेसे ही,  कुल मिला कर सब कुछ राजस्थानी अन्दाज में है ! मजा आ गया सच । फिल्म की कहानी एकलव्य के आस पास घुमती है जो की एक शाही रक्षक है और जिसका धर्म है राजपरिवार की रक्षा करना । फिल्म का चन्दा रे वाला गाना..भी बडा अच्छा लगा।

कल के ही समाचार में देखा की उदयपुर में फिल्म देखने के बाद दर्शकों ने कहा की फिल्म के बारे मे जैसा सोचा था वैसा नहीं है, अच्छी नहीं लगी वगेरह । पर हम तो एक बात ही कहेंगे – हो सकता है निर्देशक जो आपको दिखाना चाहता है वो आपने नहीं देखा, व अगर देखा भी तो ध्यान से नहीं देखा । हमें तो अच्छी ही लगी भई ।

अभिनेता : अमिताभ बच्चन, सेफ अली खान, जेकी श्राफ, जिमी, संजय दत्त, परिक्षीत साहनी, विध्या बालन एवं अन्य
रेटिंग : हम इसे 5 में से 3 स्टार देना चाहेंगे ।

टैग्सः ······

अब तक कोई भी टिप्पणी नहीं ↓

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद