Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

राजसमन्द के चार बडे व्यवसायीक घराने

November 21st, 2012 · 3 टिप्पणीयां · व्यापार व्यवसाय

राजसमन्द वैसे तो काफी बातों के लिये प्रसिद्ध है पर यहां सालों से कार्य कर रहे कई व्यवसायीक घरानों ने भी अपने आप को बुलंदियों तक पहुंचाया है | अतुल्य खनिज संपदा के लिये विख्यात तो यह जिला पहले से है, ही कालंतर में बडे व्यवसायी ग्रुप भी यहां पहुंचे और शनेः शनेः उन्होनें भी अपना प्रभाव इस क्षेत्र विशेष में बनाया, आज हम कुछ बडे व्यवसायीक घरानों के बारे में चर्चा करते हैं, राजसमंद के इन बडे घरानों के व्यापार देश विदेशों में अब फैल चुके हैं, तो यहां विशेष रुप से सबसे पहले चार नाम सामने आते हैः

राजसमन्द के बडे व्यवसायीक घराने:

जे.के टायर एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेडः

जे. के. टायर फेक्ट्री के सिंघानिया सा. के नाम को कौन नहीं जानता, भारत के शीर्ष कारोबारीयों में सिंघानिया परिवार का भी नाम आता हैं, रेडियल टायर बनाने में अग्रणी ये कंपनी काकंरोली में जब आयी तो यहां आस पास के सेंकडों युवाओ इससे रोजगार मिला, कांकरोली का भी कुछ नाम हुआ, बाहर से लोग यहां आने लगे, इस से यहा के छोटे मोटे व्यवसाय भी फले फूले | जे.के. टायर की यहां खुद की कोलोनीयां, अस्पताल, हवाई पट्टी, स्कूल, हेसेट्री का रिसर्च एंड डवलेपमेंट हाउस, फेक्ट्री आदि हैं और ये सब बहुत ही बडे पैमाने पर बना हुआ है | वर्तमान में टायर फेक्ट्री में आधुनिक मशीने आने से काम और भी तेज रफ्तार से होता हैं |

आर.के. म्रार्बल्सः
आज से लगभग बीस साल पहले आर.के. म्रार्बल्स ने मोरवड माईंस पर मार्बल माइनिंग शुरु की, अपने विशेष प्रयासों व नयी तकनीकी की मशीनरीज आदि के साथ सुव्यवस्थित और नियोजित तरीके से कार्य करने के कारण ये मार्बल व्यवसाय में बहुत विशेष स्थान रखता हैं | आर.के . ग्रुप के किशनगढ़ में भी काफी बडे कारोबार हैं | आज इनका मोरवड फ्रेश के नाम से जो मार्बल का पत्थर है वो एक विशेष मापदंड के कारण काफी महंगी दरों पर बिकता हैं, और रोजाना सेंकडों गाडी में मार्बल यहां से जाता हैं व इसका व्यवसाय होता हैं |

वेदांता, हिन्दुस्तान जिंक, दरीबाः
हिन्दुस्तान जिंक का वेदांता ग्रुप जो कि दरीबा राजपुरा में स्थित हैं, यह भी हमारे राजसमन्द के क्षेत्र का एक बहुत बडा व्यवसायीक घराना है और यहां भी माइंसे हैं जहां से खनिज निकाले जाते हैं | इस कारण भी क्षेत्र विशेष में अच्छी तरक्की हो रही हैं, यहां भी बडी कोलोनीयां हैं व यहां कार्यरत लोगों के लिये सारी मुख्य सुविधाएं कंपनी मुहैया कराती हैं | कुल मिला कर कह सकते हैं कि इस व्यवसायीक घराने नें समू्चे देश में अपना नाम रोशन किया है |

मिराज ग्रुप, नाथद्धाराः
मिराज तंबाकू उत्पाद बनाते हैं, बहुत सालों छोटे से लेवल से शुरु हुआ यह व्यवसाय आज बुलादितयों को छू रहा हैं, यहां नाथद्धारा के ही लोकल पालीवाल परिवार ने इस व्यवसाय को शुरु किया था पर आज मिराज की तंबाकू पूरे देश मे जहां मांगो वहां मिल जाती है, वर्तमान में मिराज ग्रुप अपने मुख्य कार्य तंबाकू उत्पादों के निर्माण के अलावा कई सारे और व्यवसायों में भी अपनी पैठ जमा चुका हैं, नाथद्धारा में मुरारी बापू की वैभव से कथाएं करवानी हो या कुछ और दान पुण्य के कार्य हो, यहां मिराज के मदन पालीवाल हमेशा इन कामों में आगे रहते हैं |

टैग्सः ·····

3 टिप्पणीयां ↓

  • dinesh sanadhya

    now they are doing in the field of Games also but some persons take undue advantages . so there working become the against the “aam adami’ . We required some modifications with referance to social workings >>>>>> For exempale “THE MEWAR CLUB .

  • arvind mukhiya

    good

  • Tribhuvan vyas

    I want to find information of agriculture in rajsamand

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद