Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

हल्दीघाटी का महाराणा प्रताप संग्रहालय

January 7th, 2007 · 14 टिप्पणीयां · प्रमुख दर्शनीय स्थल, राजसमन्द जिला

हल्दीघाटी पर चेतक स्मारक से कुछ ही कदमों की दुरी पर स्थित है यहां का महाराणा प्रताप संग्रहालय । अभी अभी में ईसका निर्माण हुआ है पर चू्किं यहां सारी सुविधाएं एक ही जगह पर है ईसलिये यह काफी प्रसिद्ध हो गया है । यह बनाया गया है उसी पुराने तरह के शिल्प से । सब कुछ जेसे काफी सहेज कर रखा गया हो ए॓सा प्रतीक होता है । यहां टिकट ले कर अंदर जाने से लेकर के बाहर आने तक सब कुछ काफी व्यवस्थित है।  रोजाना यहां काफी पर्यटक आते हैं।

यहां हर पन्द्रह मिनट में आने वालों को Light & Sound शो दिखाया जाता है जिसमें महाराणा प्रताप के जीवन विषयक लघुफिल्म दिखाई जाती हे, साथ ही विभीन्न शस्त्रों, फोटो, किताबों आदि की प्रदर्शनी भी दिखाई जाती हे । ततपश्चात बडे से एक नक्शे पर दिखाया जाता है, कि कहां युद्ध हुआ, राणा प्रताप के घोडे चेतक ने कहां उन्हें सकुशल पहुचाया आदि । आगे महाराणा प्रताप की जीवनी से सबंधित घटनाओं का सजीव ब्योरा दिखाया गया है उनमें पन्ना धाय के बलिदान की कहानी, महाराणा प्रताप का साथीयों के साथ युद्ध की तेयारी हेतु बातचीत, राणा प्रताप की जंगल में रहन सहन, घास की रोटी खाते हुए महाराणा प्रताप और हल्दीघाटी के युद्ध के दोरान एक पावं से घायल चेतक का बलिदान आदि काफी अच्छे ढ़ंग से दिखाया गया है।

हल्दीघाटी के युद्ध में महाराणा प्रताप का साथ देने वाले भीलू राजा, हकिम खां सुरी, राणा पुंजा, दानी भामाषाह आदि के यहां काफी अच्छे चित्रण  है । अन्त में हल्दीघाटी में गुलाब की खेती, गुलाबजल केसे बनता है आदि दिखाया जाता है । बाहर ही हस्तशिल्प, किताबें, चाय नाश्ता, गन्ने का रस, पारंपरिक पोशाको् में फोटोग्राफी, उंट व घोडे की सवारी एवं नौकायन आदि की सुविधाएं है । आज की आधुनिक तकनीकी को पुरातन संस्कृति में मिलाकर जो यह महाराणा प्रताप संग्रहालयताना बाना बनाया गया हे वह काफी आकर्षक लगता है । ए॓सा लगता है जेसे किसी ने उदयपुर के शिल्पग्राम से प्रेरित होकर यह सारा कार्य किया है, पर किसी से प्रेरणा लेना गलत नहीं है। ईतना स्टाफ, ईन सभी का रखरखाव, पर्यटकों को शो दिखाना आदि यह सारा काम ईतने व्यवस्थित तरीके से करना वाकई काबिल ए तारीफ है।

टैग्सः ·······

14 टिप्पणीयां ↓

  • सागर चन्द नाहर

    बहुत अच्छा प्रयास है आपका इन स्थानों के साथ ही उन घटनाऒं के बारे में भी संक्षिप्त रूप से बतायें जिन से ये स्थल प्रसिद्ध हैं तो अच्छा होगा।

  • संजय बेंगाणी

    सरहानीय प्रयास. साधूवाद.
    कृपया अन्यथा न लेते हुए ‘ईसलिए’ के स्थान पर इसलिए क प्रयोग करें.

  • mohansing rajput

    rajput ki histri aak important culcher hay rana mohansing
    regards
    jay rana

  • Kamal Paliwal

    Dear Sir,

    I Feel that you are unknown about the real ground and the Government Plan of Mewar Complex Plan at Haldighati.

    This Shop (Museum) is a practical example of Curreption in our System. Sorry to say you these words but I have all verified details of Government negligency.

    How can a trible person visit this Light & Sound show after paying Rupees 20/- ?

    Please give me your postal address I want to meet you in personal.

    Waiting for your favorable reply.

    Best Regards, Kamal Plaiwal

  • prabhakar sharma

    you are very good work.

  • VISHNU SHARMA

    VERY NICE

  • RAVINDER

    PLZZZ GIVE ME MOR DETAIL FOR MAHARANA PARTAP.

  • KAMLESH

    MAHARANA PRATAP KE SASTRA AUR VAISHBHUSA HAME BATAI

  • PATHAN JAVEDKHAN

    I HAVE NEED MORE DETAILS ABOUT HALDIGHAT SUMMER 7.5 MAN SLOGA N
    SPECIALLY ADD SOME PHOTO FROM
    RUNBHUMI

  • rajendra thakur

    i want to detail information of Maharana Pratap

  • suresh das

    mujhe pura rajasthan bahut accha lagta hai.is sangrahalay ke bare mai hamain aur adhik jankari dijiye.

  • PRAVIN PATIL

    Respected Sir,
    You have done a very good job .

  • deepak patil

    thanx sir ,
    bohat acha vivran diya hai aapne . ab to waha jane ka dil karta hai .

  • vinit

    please let me know more about the mewar ,and the historical places and its photos of rajsamand or X part of the mewar which is in your knowledge ,thanks
    vinit

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद