Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

लिन्क का जुगाड हमारी वेबसाईट पर

February 9th, 2007 · 3 टिप्पणीयां · तकनिकी, नई खबरें

हमने विचार बनाया है कि अब हम www.rajsamanddistrict.com के मुख्य पृष्ठ पर राईट साईड में आ रहे लिन्क्स (कडीयां) को यहां से हटा कर लेफ्ट में Pages के अन्दर लिन्क करके पेज जो है उस पर संकलित करें।

शुरू में सोचा था कि हिन्दी के चुनिंदा अच्छे अच्छे ब्लाग्स, साईट्स को में फ्री टेक्स्ट लिन्कस यहां से दुंगा, पर जब वास्तविक तौर पर काम शुरु किया तो पता चला कि यहां तो मेरी सोच से कही् अधिक एसे कई गुणी लोग बैठे हे जो काफी अच्छे अच्छे हिन्दी ब्लाग, साईट, डायरेक्ट्रीयां व फोरम चला रहें हैं । तो मियां अपनी लिस्ट तो काफी बडी होती ही जा रही है। कुछ जुगाड तो करना ही पडेगा ना । लम्बी लिस्ट से पेज का रुप लावण्य दिन ब दिन बिगड भी रहा था ।

तो जी हमने अब ये विचार बनाया है कि अपना यह टेक्स्ट लिन्कस का काम तो जारी रखेंगे पर एक अलग अन्दाज मे। लेफ्ट साईड के साईटबार में आ रहे Pages के अन्दर एक नया पेज बनाया गया है “लिन्क” नाम से । अब जो भी हमारे ईस ब्लाग या साईट पर कमेन्ट्स करता है या हमें लगता है कि फलां फलां हिन्दी ब्लाग, डायरेक्ट्री या फोरम सभी के लिये अति महत्वपुर्ण है तो हम उसे अपने उस पेज “लिन्क” पर एक टेक्स्ट लिन्क देंगे।

आखिर एक दुसरे को जब हम कमेन्ट्स करते है कितना अच्छा लगता है, ये भी एक तरह कि मदद है किसी कि । एक तरह से कवि या लेखक को तारीफ के दो शब्द ही तो चाहिये होते हैं, बस । ईसी तरह से हम एक दुसरे के ब्लाग या साईट को लिन्क करते है या लिन्क देते है तो एक तरह से सामने वाले के कन्धे पर हाथ रखते है कि “चलते चल भाई, में हुं ना पीछे तेरे साथ” । तो चिठ्ठाकार भाईयों और बहनों, आप कब अपने ईस छोटे अनुज के कन्धे पर हाथ रख रहे हैं, और लिन्क कर रहे हें हमारी साईट को ।

टैग्सः ·····

3 टिप्पणीयां ↓

  • श्रीश शर्मा 'ई-पंडित'

    ऐसे काम के लिए ब्लॉगर में ड्रॉपडाउन मीनू की सुविधा है, जितने चाहे लिन्क जोड़ो और जगह की बचत भी। जरा खोज कीजिए वर्डप्रैस के लिए भी कोई ऐसा प्लगइन जरुर होगा।

  • तरूण

    आप वर्डप्रेस उपयोग में ला रहे हैं, वैसे तो आपने पहले ही वो कर दिया जो मैने इसमें बताया था। लेकिन अपने लिंक पेज को बेहतर बनाने के लिये शायद ये आपके काम आये, एक बार पढके देख लीजिये।

  • Anjaan

    प्लगइन तो जरुर होगा ही सर ड्रोपडाउन लिन्क के लिये पर , एसा करने का विचार आया और कर डाला बस वैसे आईडिया आपका भी बुरा नहीं हैं ।

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद