Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 2

ये कुत्ते आखिर गाडीयों के पीछे भागते क्यों है ?

August 20th, 2009 · 1 टिप्पणी · आपबीती, उलझन

बडा अजीब सा सवाल है, है ना ! ये कुत्ते आखिर गाडीयों के पीछे भागते क्यों है ? कुछ कत्ते तो दूर से ही ताक लगाकर खडे रहते हैं, जैसे कोई पुरानी दुश्मनी निकालना चाहता हो, और ना जाने क्यों जैसे ही कोई कार, मोटर साईकिल पास से गुजरी नहीं की भोंकते हुए उसके पीछे सरपट दौडते हैं । और इस ही क्रम में कई बार बेचारे निर्दोष मोटरसाईकिल सवार छोटे मोटे एक्सीडेंट का शिकार हो जाते हैं ।

कभी कभी कार जीप के जब कोई कुत्ता दौडता हैं तो कार में बैठे लोगों की हवा टाईट हो जाती हैं, खास तौर से अगर कार की खिडकी खुली हो तो एसा महसूस होता हैं कि कहीं यह दुर से दौडता हुआ कार की खिडकी के अन्दर जंप ना मार दे । और जंप मार भी दे तो कोई बात नही पर अगर काट लिया तो मुसीबत हो जाएगी । खामखा अस्पताल के चक्कर और पेट में चौदह इंजेक्शन अलग से । इस ही प्रकार जीप में सवार लोगों को तो मुसीबत और भी ज्यादा सी महसूस होती हैं, क्यों कि अधिकतर जीप में तो ढाटक होती ही नहीं हैं ना । एक छोटा रेगजीन का सा किवाडनुमा कुछ बना रहता है जो डंडे पर लिपटा ही रहता हैं ।

काफी रिसर्च करने के बाद पता चला कि अगर कोई गाडी नें अगर कुत्ते को कुचल कर मार डाला हो, मृतक कुत्ते के सारे परिजन उस रंग व मेक की सभी गाडीयों के जानी दुश्मन से बन जाते हैं और फिर उनका एक ही मकसद होता है, आदमी को मारो अभियान । पर स्कुटर व मोटरसाईकिल वाले भले ही गिर पडते हों, कार जीप या बडी गाडी वालों से ये चार टांगो वाले चालाक कुत्ते जीत नहीं पाते हैं और इनमें से कुछ और भी कुत्ते की मौत ही मर जाते हैं ।

कहा जा सकता हैं कि आज के जमाने में इंसान कुत्तो से भी निकृष्ट हो चुका है, पर ये जानवर अभी भी अपनी स्वामीभक्ती, मदद करने की काबिलियत और बहादूरी के लिए ही जाने जाते हैं । साथ ही में यहां एक बहुत ही अनमोल विडीयो पेश करता हूं जो हमें यह बताने के लिये काफी है कि कोई इंसान कुत्ता कमीना बन सकता हैं पर इन्होनें अभी भी इंसानियत नहीं छोडी हैं । यह विडीयो ट्रेफिक केमरे से खिंच चुका था जब एक कुत्ता अपने अन्य साथी की जान बचाने के लिए कैसे अपने जीवन को दांव पर लगाता है और किस प्रकार से मदद कर के बचा लाता हैं ।

टैग्सः ····

एक टिप्पणी ↓

अपनी टिप्पणी करें, आपकी टिप्पणीयां हमारे लिये बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, आप हिन्दी या अंग्रेजी में अपनी टिप्पणी दे सकते हैं, साथ ही आप इस वेबसाईट पर और क्या क्या देखना चाहेंगे, अपने सुझाव हमें दें, धन्यवाद