Rajsamand District, Rajasthan

राजसमन्द जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल, ए॓तिहासिक पर्यटन स्थल, मंदिर, किले, मुख्य त्योहार एवं व्यवसाय आदि की विस्तृत जानकारी, साथ ही हर घटना को देखने का लेखक का अपना व्यक्तीगत व्यंग्यात्मक नजरिया आज की इस तिरछी दुनिया के सन्दर्भ में…

Rajsamand District, Rajasthan header image 4

Entries Tagged as 'उलझन'

जस्सुबेन जयन्तिलाल जोशी V/s अनजान

March 25th, 2008 · No Comments · आपबीती, उलझन, फिल्म रिव्यु

पिछले सात दिन में दो तीन बार मेनें NDTV पर आने वाला एक धारावाहिक जस्सुबेन जयन्तिलाल जोशी देखा, उसमें एक पात्र है । जसुबेन का चश्मेवाला बडा लडका जो पेशे से टीचर है ‌और कविताएं लिखना उसका शौक है । अपने आप को प्रसिद्धी पाते हर कोई देखना चाहता है और वह भी एसा ही […]

[Read more →]

Tags: ····

मोबाइल मेनिया

March 21st, 2008 · 3 Comments · उलझन, तकनिकी

गांव गांव शहर शहर में मोबाइल क्या हुए आफत हो गई हमारे जैसे लोगों के लिए तो । शांति से कोई जीने नहीं दे रहा है, और जहां देखो वहां कोई ना कोई जान का दुश्मन जोर जोर सेः हेलो, हेलो आवाज नहीं आ रही है, जरा तेज बोलो,, कह कर परेशान किये जा रहा […]

[Read more →]

Tags: ····

15 बातें जो मुझे कतई पसंद नहीं

March 13th, 2008 · 5 Comments · आपबीती, उलझन

हर किसी व्यक्ती की कुछ पसंद तो कुछ नापसंद होती है, हमारी भी है कुछ एसी ही, कुछ लोग गलत समय पर गलत बात कर बैठते है, पर उमर व अनुभव में हम छोटे हे और छोटे का कुछ नहीं हो सकता । इस तरह की ही कुछ बातें हैं जो हमें बिलकुल भी पसंद […]

[Read more →]

Tags: ···

भौतिकवादी युग औ‌र हम

February 23rd, 2008 · 1 Comment · उलझन

कई बार हमारे जेहन में यह सवाल आता है कि, क्या थप्पड मार कर गाल को लाल रखना और लोगों को दिखाना अच्छी बात है ? कई लोग शायद यह आज की आम जिन्दगी में सही समझते होंगे पर हमें तो यह ठीक नहीं लगता । बडे लोग कह गए हैं कि उतने ही पांव […]

[Read more →]

Tags: ····

नए साल के नए फन्डे

January 5th, 2008 · No Comments · उलझन, हास्य

फिर से नया साल आ गया है ! सभी लोगो अपने अपने नए टारगेट बनाते हैं, अपने आप से वादा करते हैं कि में इस साल ये करुंगा ये नहीं करुंगा। पर शायद ही उनमें से कुछ लोग अपने प्लान के हिसाब से पुरे साल चल पाते होंगे । इन्सान है ना कुछ भी चीज […]

[Read more →]

Tags: ·····